Wednesday, 27 March 2013

हाइकू/ बसंत

सभी मित्रों को होली की हार्दिक शुभकामनायें…….



1
ऋतु बसंत
उत्सव उल्लास
मन अनंत।

2
अबीर मला
क्लेष की आहुति हो
गुलाल उड़ा।

3
कहां कोयल
बुलबुल खोयी है
फीके से गीत।

4
लाल किरन
सूरज अब जागा
नई सुबह।

5
शिव अरूप
पार्वती का श्रंगार
शुभ विवाह।
        - बृजेश नीरज

14 comments:

  1. बेहतरीन हाइकू,होली की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका आभार!
      आपको होली की हार्दिक शुभकामनाएं!

      Delete
  2. शब्दों के सिमित संसार में रंगों को बाखूबी बाँधा है ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका आभार!
      आपको होली की हार्दिक शुभकामनाएं!

      Delete
  3. होली मुबारक
    आपकी पोस्ट कल के चर्चा मंच पर है

    ReplyDelete
    Replies
    1. दिलबाग जी आपका आभार!
      आपको भी होली की शुभकामनाएं!

      Delete

  4. बहुत सुन्दर।। होली की हार्दिक शुभकामनाएं
    पधारें कैसे खेलूं तुम बिन होली पिया...

    ReplyDelete
  5. डारि डारि संग राखे अंग, रंग फूल मनाए होरी रे ।
    दैइ फुहारीन पाखे रंग, संग झूल मनाए होरी रे ॥

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर।। होली की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर हायकू ..
    आपको होली की हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका आभार!आपको भी होेली की शुभकामनाएं!

      Delete

कृपया ध्यान दें

इस ब्लाग पर प्रकाशित किसी भी रचना का रचनाकार/ ब्लागर की अनुमति के बिना पुनः प्रकाशन, नकल करना अथवा किसी भी अन्य प्रकार का दुरूपयोग प्रतिबंधित है।

ब्लागर